Thursday, October 08, 2015

समानता


ज़िन्दगी जीने के लिए है, किसी को झुकाने के लिए नहीं 

क्युंकि जहां आम आदमी चार कंधो पर जाता है, वहीं एक राजा भी !




No comments:

Post a Comment