Saturday, November 01, 2014

दास्तां - ए - लाइफ

आकाश नीला हो या काला, फर्क एक किरण का है 

गंगा उल्टी बहे या सीधी , लोगों के इरादों का फ़साना है 

किस्मत तो है तारों का खेल, जीना अपनी इच्छाओं का पंचनामा है!

1 comment: